July 3, 2022

युरेशिया

राष्ट्रहित सर्वोपरि

मेरठ में आयोजित प्रांतीय पत्रकार सम्मेलन में आंचलिक पत्रकारों के उन्नयन पर हुई चर्चा

यूरेशिया संवाददाता

मेरठ। देश के सबसे बड़े पत्रकार संगठन नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट (इंडिया) की मान्यता प्राप्त प्रादेशिक इकाई यू.पी जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन (उपजा) का प्रांतीय सम्मेलन परतापुर बाईपास स्थित मेरठ इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी (एमआईटी) मेरठ परिसर में संपन्न हुआ। एन.यू.जे आई के महासचिव सुरेश शर्मा ने ग्रामीण और अंचल क्षेत्र की पत्रकारिता को विकसित और समृद्ध बनाने की बात करते हुए कहा कि जब तक पत्रकारिता ताकतवर रहेगी लोकतंत्र स्वस्थ बना रहेगा। पत्रकारिता पर अविश्वसनीयता की बात थोपना बाकी स्तंभों की चालाकी है। उन्होंने कहा कि हम स्वयं इस बात की चिंता करें कि पत्रकारिता के जन सरोकार बने रहे। प्रांतीय महासचिव राधेश्याम लाल कर्ण ने उत्तर प्रदेश में संगठन के विस्तार सहित अन्य गतिविधियों की जानकारी दी। राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष उमेश चतुर्वेदी ने पत्रकारों को किस प्रकार लेखन करना चाहिए इसके संबंध में अपनी बात कही। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में पत्रकार उपस्थित थे।

 

प्रांतीय पत्रकार सम्मेलन को संबोधित करते हुए एन.यू.जे-आई महासचिव सुरेश शर्मा ने कहा कि लोकतंत्र को स्वस्थ और समृद्धि रहने के लिए सभी चारों स्तंभों को अपने-अपने स्थान पर ताकतवर होना चाहिए। मीडिया के संबंध में अन्य स्तंभ भ्रम पैदा कर यह सिद्ध करने का प्रयास कर रहे हैं कि इन दिनों मीडिया अविश्वसनीय होता जा रहा है। जबकि मीडिया की ताकत से भयभीत वर्ग ही ऐसे भ्रम पैदा करता है। मीडिया में काम करने वाले प्रत्येक व्यक्ति का जन सरोकार के साथ जितना जुड़ा होगा पत्रकारिता उतनी ही समृद्ध और ताकतवर बनेगी। जिसके कारण लोकतंत्र प्रभावी बनता चला जाएगा। श्री शर्मा ने कहा कि ग्रामीण और आंचलिक पत्रकारिता जन सरोकार के साथ सीधे जुड़ाव रखती है जब यह पत्रकारिता ताकतवर होगी तब पूरे देश की पत्रकारिता अपने आप सशक्त हो जाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि पत्रकारिता आंदोलन में कुछ अवांछनीय तत्वों का प्रवेश हो गया है जो वातावरण को दूषित करने का प्रयास करते हैं। जब हम अपने काम की गति बढ़ाते हैं तब वे तत्व ठीक उसी प्रकार किनारे लग जाएंगे जैसे नदी के तेज प्रवाह के कारण कूड़ा लग जाता है।

 

उपजा के प्रांतीय महामंत्री राधेश्याम कर्ण द्वारा अतिथियों का स्वागत करते हुए उपजा की उपलब्धियों एवं योजनाओं पर विस्तार से प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि उपजा पत्रकारों के हित के लिए युवा पत्रकारों को पांच हजार मानदेय व वरिष्ठ पत्रकारों को दस हजार पेंशन, पत्रकार सुरक्षा कानून, ग्रामीण पत्रकारों के लिए निशुल्क बस सेवा, निशुल्क चिकित्सा, रियायती दर पर भवन व भूखंड, मान्यता प्राप्त पत्रकारों को आयुर्वेदिक संस्थान में निःशुल्क चिकित्सा, तहसील स्तर के पत्रकारों को मान्यता प्राप्त कराने का मांग दौहरा।

इसी क्रम में एनयूजेआई के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष एवं दिल्ली पत्रकार संघ के अध्यक्ष उमेश चतुर्वेदी ने पत्रकारों के कल्याण के लिए किए गए प्रयास और उपलब्धियों पर प्रकाश डाला। सम्मेलन को उपजा के मुजफ्फरनगर जनपद के अध्यक्ष डॉ फल कुमार, प्रांतीय कार्यकारिणी सदस्य अरुण द्विवेदी, अश्वनी त्यागी वरिष्ठ पत्रकार ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम में एमआईटी की बीटेक की छात्रा द्वारा सरस्वती वंदना से व आगंतुक अतिथियों द्वारा दीप जलाकर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। सम्मेलन में राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य श्रीनाथ महेरा, कानपुर के उपजा जिला अध्यक्ष सुरेंद्र पाल सिंह, फतेहपुर जिला अध्यक्ष पंकज अग्निहोत्री, मुजफ्फरनगर के जिला अध्यक्ष डॉ फल कुमार, मुजफ्फरनगर के जिला महामंत्री राजीव गोयल, गाजियाबाद के जिला अध्यक्ष अयूब खान, बागपत जिला अध्यक्ष मनोज उज्जवल, नोएडा के वरिष्ठ पत्रकार राजीव शर्मा आदि सहित तकरीबन 250 पत्रकारों को प्रतीक चिन्ह व अंग वस्त्र देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम के संयोजक प्रांतीय उपाध्यक्ष हरेंद्र चौधरी द्वारा सम्मेलन में पधारे सभी अतिथियों का आभार व्यक्त किया। जिला अध्यक्ष अजय चौधरी, जिला महामंत्री ललित ठाकुर, जिला उपाध्यक्ष पवन शर्मा, संगठन महामंत्री राजू शर्मा, कोषाध्यक्ष विश्वास राणा, महानगर मंत्री अविनाश भारती आदि ने अतिथियों को वस्त्र भेंटकर वह माला पहनाकर सम्मानित किया। इसी क्रम में उत्तर प्रदेश के राज्यपाल आनंदीबेन पटेल द्वारा सम्मेलन की सफलता हेतु प्रेषित पत्र को पढ़कर सुनाया गया। जिसे सभा में उपस्थित पत्रकारों ने राज्यपाल महोदिया के प्रति कृतज्ञता ज्ञापित किया।