June 30, 2022

युरेशिया

राष्ट्रहित सर्वोपरि

दुनिया में इससे पवित्र नहीं और कोई भी नाता –

तरुण आहूजा/यूरेशिया

भाई बहन का पर्व ये भाई दूज कहलाता मेरठ भाई बहन के प्रेम का प्रतीक भाई दूज पर्व शहर में शनिवार को परंपरागत ढंग से मनाया गया। बहनों ने भाइयों के मस्तक पर टीका कर उनकी लंबी उम्र की कामना की। इस मौके पर भाइयाें ने भी बहनों का मुंह मीठा करा कर उनके खुशहाल जीवन की प्रार्थना ईश्वर से की और उन्हें उपहार दिए ।

कही भाई तो कही बहन पहुंची —

– त्यौहार पर कही भाई बहनो के घर पहुंचे तो कही बहन भाइयो के घर पहुंची । मेरठ में भईया दूज का पर्व पूरे उत्साह के साथ मनाया गया। त्योहार को लेकर कई जगह सड़कों पर जाम की स्थिति रही। बहनोें ने भाइयों के मस्तक पर तिलक लगाकर उनके दीर्घायु की कामना की। भाईदूज पर ट्रेनों व बसों में काफी भीड़ रही। भाइयों को टीका करने में जहां एक ओर बहनें उनके घर पहुंची तो वही कुछ जगह बहनों से मिलने के लिए भाई उनके घर आते = जाते दिखे। जिस वजह से ट्रेनों में काफी भीड़ रही। रोडवेज व प्राइवेट बस अड्डों पर यात्रियों की काफी भीड़ रही। ट्रेनों में भी यात्रियों को बैठना तो दूर खड़े होने के लिए भी खासी मशक्कत करनी पड़ी और लेटलतीफी ने भी लोगों को काफी दिक्कत हुई।  रोडवेज द्वारा कई रूटों पर अतिरिक्त बसाें का संचालन कराया गया था। इसके बाद भी रोडबेज से लेकर निजी क्षेत्र की चलने वाली बसों के लिए प्राइवेट बस अड़्डों पर बसों में सीट पाने के लिए अफरा तफरी रही । बहनों ने जिला कारागार पहुंच कर वहां बंद अपने भाइयों को टीका कर उनक के लिए दुआ मांगी।  जिला कारागार प्रशासन ने त्योहार के मद्देनजर दूर दराज से आने वाली बंदियों की बहनों के लिए सुबह से मिलाई करने की शुरूआत करा दी थी। जेलर ने बताया कि जिला कारागार मिलाई करने आई महिलाओ को बंदियों से मिलवाया गया। त्योहार को लेकर पुलिस प्रशासन भी सक्रिय रहा। ।