June 26, 2022

युरेशिया

राष्ट्रहित सर्वोपरि

जरा सी लापरवाही आंख पर पड़ सकती है भारी : डा शकील

  • मानसून में रखें आंखों का विशेष ध्यान

मेरठ, 7 जुलाई 2021। झुलसाती गर्मी के बाद बारिश से राहत मिलती है पर बारिश अपने साथ त्वचा, पेट और आंखों से संबंधी कुछ समस्याओं को भी लेकर आती है। इन समस्याओं से निपटा जा सकता है। इसके लिये सावधानी बेहद जरूरी है। जरा सी असावधानी आप पर भारी पड़ सकती है। यह बात मेडिकल कालेज अस्पताल के नेत्र रोग विभाग के नेत्र रोग विशेषज्ञ डा. शकील अहमद ने कही। उन्होंने बताया आंखों के काफी इंफेक्शन होते हैं। उन्हीं में से एक है कंजक्टिवाईटिस। यह बहुत साधारण इंफेक्शन है जो पीड़ित रोगी से हाथ मिलाने पर, उसका रूमाल प्रयोग करने पर, उसकी आंखों में आंखें डालकर बात करने पर, उसके द्वारा प्रयोग किये गये तकिया, तौलिया से हो जाता है। इसमें आंखें लाल हो जाती हैं, खुजली होती है, आंखों से पानी गिरता है और दर्द रहता है। अगर आंखों को खुजाया जाए तो सूजन हो जाती है और जख्म भी हो सकता है।

   परेशानी होने पर चिकित्सक की सलाह जरूर लें

उन्होंने बताया इस समस्या में आराम करना चाहिए और अपनी निजी साफ-सफाई पर ध्यान देना चाहिए, चिकित्सक द्वारा बताई दवा का प्रयोग करना चाहिए। आंखों को थोड़े थोड़े अंतराल के बाद साफ पानी से धोएं और रूमाल व टावल द्वारा हल्के से पोंछे। वही रूमाल या टावल बस अपने प्रयोग के लिए रखें और धोकर कर पुन: प्रयोग में लाएं। चिकित्सक से जांच करवाएं  और उनके परामर्श के अनुसार दवा लें और आई ड्राप डालें।उन्होंने बताया आंखो का बैक्टीरियल इंफेक्शन भी है। जिसके तहत आईलिड में सूजन आ जाती है, आंख लाल हो जाती है और दर्द भी होता है। इस सूजे हुए भाग को स्टाई कहते हैं। इसके लिए आंखों की सफाई का विशेष ध्यान रखें और चिकित्सक की सलाह अनुसार एंटीबायोटिक लें। घरेलू उपचार से बचें। इससे इंफेक्शन बढ़ सकता है। किसी भी हालात में घरेलू  नुस्खे न अपनाएं । आंखों का एक इंफेक्शन ड्राईनेस भी है, जिससे आंखों में खुश्की आ जाती है जिससे आंखों में जलन, चुभन होती है और पानी भी आता है। ऐसी स्थिति होने पर चिकित्सक के परामर्श अनुसार आई ड्राप डालें।उन्होंने बताया इसके अतिरिक्त इस मौसम में स्विमिंग पूल इंफेक्शन होता है। जो लोग स्विमिंग के लिए जाते हैं,उन्हें कभी कभी बारिश के मौसम में गंदे पानी के कारण इंफेक्शन हो जाता है। ऐसी स्थिति में चिकित्सक से परामर्श करें।

इन आदतों को अपनाएं :-

आंखों को या पोंछते समय अपने रूमाल का प्रयोग करें। हाथ धोकर आंखों को छुएं।धुआं, धूल व धूप से आंखों को बचा कर रखें।अपना तौलिया, रूमाल, साबुन, तकिया किसी अन्य के साथ शेयर न करें।बाहर निकलते समय धूप के चश्मे का प्रयोग करें। कोविड के नियमों का हर हाल में पालन करें ।