October 23, 2020

युरेशिया

राष्ट्रहित सर्वोपरि

19 अक्टूबर से खुलेंगे कक्षा नौ से बारह तक के सभी बोर्ड के स्कूल व कालेज-जिलाधिकारी 

  • सरकार द्वारा जारी एसओपी का पालन करें सभी स्कूल व कालेज, कोविड-19 के दिषा-निर्देषों का रखें विषेष ध्यान: जिलाधिकारी 

  • हमारा उद्देष्य बीमारी को हराना व बच्चो को पढ़ाना: के0 बालाजी 

  • 200 तक एक पारी व 200 से अधिक विद्यार्थी होने पर दो पारियों में संचालित होंगे स्कूल व कालेज: जिलाधकारी 

युरेशिया संवाददाता
मेरठ, आगामी 19 अक्टूबर 2020 से कक्षा 09 से कक्षा 12 तक के सभी स्कूल व कालेज खोलने का निर्णय प्रदेष सरकार ने लिया। इसी के क्रम मंे चै0 चरण सिंह वि0वि0 के सुभाष चन्द्र बोस प्रेक्षागृह मंे माध्यमिक षिक्षा परिषद, सीबीएसई व आईसीएसई आदि बोर्ड के स्कूल व कालेज के प्रधानाचार्यों के साथ आहूत बैठक की अध्यक्षता करते हुये जिलाधिकारी के0 बालाजी ने कहा कि कोविड-19 के दिषा-निर्देषों के साथ कक्षा 09 से कक्षा 12 तक के स्कूल व कालेज खोले जायें तथा सभी स्कूल व कालेज सरकार द्वारा जारी एसओपी (स्टेण्डर्ड आपरेटिंग प्रोसिजर) का पालन करें। जिला विद्यालय निरीक्षक अपने यहां कंट्रोल रूम बनाये। उन्होने कहा कि हमारा उद्देष्य बीमारी को हराना व बच्चो को पढ़ाना है।
जिलाधिकारी के0 बालाजी ने कहा कि विद्यालय खोले जाने से पूर्व उन्हें पूरी तरह से सैनेटाईज किया जाये तथा यह प्रक्रिया प्रतिदिन प्रत्येक पाली के उपरान्त नियमित रूप से सुनिष्चित की जाये। उन्होने कहा कि विद्यालयों मंे सैनेटाईजर, हैण्डवाॅष, थर्मल स्कैनिंग एवं प्राथमिक उपचार की व्यवस्था सुनिष्चित की जाये तथा किसी भी षिक्षक व विद्यार्थी को बिना माॅस्क के प्रवेष की अनुमति न दी जाये। उन्होने कहा कि जिस विद्यालय मंे 200 तक विद्यार्थी है उनके यहां 01 पारी संचालित की जाये तथा 200 से अधिक होने पर 02 पारियों में संचालित किया जायें।
उन्होने कहा कि सीटिंग अरेंजमेेन्ट भी सोषल डिस्टेनसिंग को ध्यान में रखकर किया जाये तथा विद्यार्थी को 06 फीट की दूरी पर बैठने की व्यवस्था सुनिष्चित की जाये। उन्होने कहा कि विद्यार्थियो को उनके माता-पिता/अभिभावको की लिखित सहमति के उपरान्त ही पठन-पाठन हेतु बुलाया जाये। किसी भी विद्यार्थी को विद्यालय आने के लिए बाध्य न किया जाये। एक दिवस में प्रत्येक कक्षा के अधिकतम 50 प्रतिषत तक विद्यार्थियों को ही बुलाया जाये तथा शेष 50 प्रतिषत विद्यार्थियों को अगले दिन बुलाया जायें।
वहीं स्कूल/कालेज से आये प्रधानाचार्यों ने कहा कि हम बच्चों को पढायेंगे भी और बचायेंगे भी। विद्यालय षिक्षा का मंदिर है तथा बच्चों का भविष्य सर्वोपरि है। बैठक से पूर्व सभी को निर्देषित किया गया कि भारत सरकार की योजनाओं के लिए सभी स्कूल व कालेज आगामी 22 अक्टूबर तक के0वाई0सी0 भरना सुनिष्चित करे। उन्होने कहा कि किसी भी विद्यार्थी को विद्यालय आने के लिए बाध्य न किया जाये।
इस अवसर पर प्रभारी जिला विद्यालय निरीक्षक फतेह चन्द्र, ए0एस0 इंटर कालेज मवाना के डा0 मेघराज सिंह आदि उपस्थित रहे।