August 2, 2021

युरेशिया

राष्ट्रहित सर्वोपरि

जिलाधिकारी के कोषागार में पहुंचने पर मचा हड़कंप

  • जिलाधिकारी से महिला ने पेंशन न बनाए जाने की कोषागार के कर्मचारियों की शिकायत* 
  • जनता की समस्या का समाधान मानत अनुरूप गुणवत्तापूर्ण होना चाहिए*

सुनील/यूरेशिया

बागपत ।जिलाधिकारी राजकमल यादव कलेक्ट्रेट कार्यालय में फरियादियों की जन समस्या बहुत ही गंभीरता से सुन रहे थे और मौके पर उनका समाधान कर रहे थे हरियादी की समस्या पर जो विभागीय अधिकारी गंभीरता नहीं दिखा रहे थे और फरियादी को परेशान कर रहे थे ऐसे अधिकारियों से जिलाधिकारी अपने कार्यालय से दूरभाष के माध्यम से नियमानुसार शिकायत का समाधान करने के लिए निर्देशित कर रहे थे ।जिलाधिकारी के कड़े निर्देश हैं कि आम जनमानस को कलेक्ट्रेट के या सरकारी कार्यालय के चक्कर ना लगाने पड़े उनका कार्य समय से गुणवत्ता के अनुरूप हो जाना चाहिए। मेसर नामक वृद्ध महिला पत्नी श्री बाबूराम की मृत्यु 17 फरवरी 2021 को हो जाने के कारण जो अवकाश प्राप्त अध्यापक थे पति की मृत्यु हो जाने के स्थान पर उनकी पत्नी मेसर ने पेंशन बनवाए जाने के लिए कोषागार में अनुरोध किया तो वहां के स्टाफ ने उन्हें अनावश्यक रूप से चक्कर लगवाने प्रारंभ कर दिए की आप का नाम सही नही है ।मेसर नामक महिला अपनी शिकायत जिलाधिकारी के पास लेकर पहुंची तो उन्होंने प्राप्त शिकायत का संज्ञान गंभीरता से लिया और तत्काल कलेक्ट्रेट कोषागार में महिला को लेकर पहुंच गए और वहां पेंसन सम्बंधित पत्रावली का अवलोकन किया जिलाधिकारी ने निर्देश दिए की महिला की पेंशन नियम अनुसार तत्काल बनाई जाए जो भी कागज कार्यवाही है उसे तत्काल आज ही पूर्ण किया जाए वृद्ध महिला को अनावश्यक रूप से चेक करना लगवाए जाएं अगर ऐसे भी कर्मचारी संज्ञान में आते हैं तो उन पर प्रभावी कार्यवाही की जाएगी । जिलाधिकारी ने कलेक्ट्रेट का भी निरीक्षण किया और सभी पटेल के पटेल धारकों को निर्देश दिए कि जो भी कर्मचारी हैं समय से आएं और अपने कार्य को गंभीरता के साथ संपादित करें हमें जनता की सेवा करने का मौका मिला है तो जो सरकार द्वारा दिया गया समय है उसमें हम तत्परता के साथ अपने दायित्व का कर्तव्य का निर्वहन करें।