April 9, 2021

युरेशिया

राष्ट्रहित सर्वोपरि

कृषि में आधुनिकता समय की मांग : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

नयी दिल्ली  (एजेंसी) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को ‘मन की बात’ में कृषि क्षेत्र में आधुनिकीकरण पर जाेर दिया। उन्होंने कहा, भारत के कृषि जगत में आधुनिकता समय की मांग है। बहुत देर हो चुकी है। हम बहुत समय गंवा चुके हैं। कृषि क्षेत्र में रोजगार के नये अवसर पैदा करने के लिए, किसानों की आय बढ़ाने के लिए, परंपरागत कृषि के साथ ही, नये विकल्पों को, नये इनोवेशंस को अपनाना भी, उतना ही जरूरी है। मधुमक्खी पालन भी ऐसे ही विकल्प के रूप में सामने आ रहा है।

प्रधानमंत्री ने पश्चिम बंगाल के गांव गुरदुम, हरियाणा के यमुनानगर और गुजरात के बनासकांठा का उदाहरण देते हुए कहा कि इन क्षेत्रों के किसानों ने मधुमक्खी पालन अपनाकर अपनी आय में वृद्धि की है। उन्होंने कहा कि केवल शहद ही नहीं, मधुमक्खी का मोम भी आय का अच्छा स्रोत है।

‘मन की बात’ की 75 कड़ियां पूरी होने पर प्रधानमंत्री ने कहा कि 2014 में हमने यह सफर शुरू किया था, लेकिन ऐसा लगता है जैसे कल ही की बात हो। उन्होंने इसके लिए सभी श्रोताओं का आभार जताया। उन्होंने आजादी के 75 वर्ष पूरे होने के समारोह की महत्ता पर जोर देते हुए कहा कि ‘मन की बात’ के 75 एपिसोड ऐसे समय पूरे हुए हैं, जब भारत ‘अमृत महोत्सव’ मनाने के लिए उत्साहित है। मोदी ने यह भी कहा कि भारत की ‘नारी शक्ति’ खेल के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन कर रही है। उन्होंने क्रिकेटर मिताली राज और बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु के हाल के प्रदर्शन की तारीफ की। प्रधानमंत्री ने निशानेबाजी वर्ल्ड कप में भारतीय खिलाड़ियों के प्रदर्शन की भी सराहना की।

वैक्सीन लगवाने की अपील :
मोदी ने कोरोना योद्धाओं की सराहना की और टीका लगवाने वाले कई बुजुर्गों का जिक्र करते हुए कहा, सभी से अपील भी है कि वैक्सीन जरूर लगवाएं। प्रधानमंत्री ने कहा, हम सबके लिए गर्व की बात है कि आज भारत सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान चला रहा है।