March 1, 2021

युरेशिया

राष्ट्रहित सर्वोपरि

बारिश के कारण बीच में रुका मैच,ऑस्ट्रेलिया की बढ़त 276 रन

प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
ब्रिसबेन। भारत के अनुभवहीन युवा गेंदबाजों के एक और प्रभावी प्रदर्शन के बीच स्टीव स्मिथ के अर्धशतक की मदद से ऑस्ट्रेलिया ने चौथे क्रिकेट टेस्ट के चौथे दिन सोमवार को चाय तक 276 रन की कुल बढत बना ली। बारिश के कारण चाय का ब्रेक जल्दी लेना पड़ा। उस समय ऑस्ट्रेलिया ने सात विकेट पर 243 रन बनाये थे।गाबा की विकेट को देखते हुए अब कोई भी लक्ष्य बहुत मुश्किल होगा। गाबा पर चौथी पारी में सर्वोच्च लक्ष्य का पीछा करके जीत 1951 में वेस्टइंडीज ने हासिल की है जब उसने 236 रन बनाये थे। चाय के समय पैट कमिंस दो और मिशेल स्टार्क एक रन बनाकर खेल रहे हैं। भारतीय गेंदबाजों में मोहम्मद सिराज ने शानदार प्रदर्शन करते हुए लंच के बाद शॉर्ट गेंद पर स्मिथ को गली में लपकवाया। स्मिथ 74 गेंद में सात चौकों की मदद से 55 रन बनाकर आउट हुए। रहाणे ने उनका कैच लपका।

इसे भी पढ़ें: आस्ट्रेलिया मैच को लेकर थांगारासु नटराजन सहित इन गेंदबाजों की रोहित शर्मा ने तारीफ
इससे पहले सिराज ने शुरूआती सत्र में 31वें ओवर की तीसरी गेंद पर मार्नस लाबुशेन (22 गेंद में 25 रन) और आखिरी गेंद पर मैथ्यू वेड (0) को आउट किया। लाबुशेन ने दूसरी स्लिप में रोहित शर्मा को और वेड ने विकेट के पीछे ऋषभ पंत को कैच थमाया। सिराज 15 ओवर में 42 रन देकर तीन विकेट ले चुके हैं। शारदुल ठाकुर ने भी 14 . 1 ओवर में 41 रन देकर तीन विकेट लिये। उन्होंने दूसरे सत्र में कप्तान टिम पेन (27) और कैमरन ग्रीन (37) को पवेलियन भेजा। पेन ने विकेट के पीछे पंत को और ग्रीन ने रोहित को कैच थमाया। इससे पहले डेविड वॉर्नर और मार्कस हैरिस ने पहले विकेट के लिये 89 रन जोड़े। वॉर्नर ने 75 गेंद में छह चौकों की मदद से 45 रन बनाये लेकिन वाशिंगटन सुंदर ने उन्हें पगबाधा आउट किया। इसके बाद हैरिस 82 गेंद में 38 रन बनाकर शारदुल ठाकुर के बाउंसर का शिकार हुए जिनका कैच पंत ने लपका। हैरिस ने अपनी पारी में आठ चौके जड़े।

You may have missed

1 min read

चोरी गए वाहन क्लेम मामले में मध्य प्रदेश राज्य उपभोक्ता आयोग का अहम फैसला, बीमा कंपनी को देनी पड़ेगी ब्याज सहित क्लेम राशि दिनेश शुक्ल फरवरी 13, 2021 13:48 LIKE चोरी गए वाहन क्लेम मामले में मध्य प्रदेश राज्य उपभोक्ता आयोग का अहम फैसला, बीमा कंपनी को देनी पड़ेगी ब्याज सहित क्लेम राशि वरिष्ठ अधिवक्ता ललित कुमार गुप्ता ने बताया कि बीमित वाहन के चोरी के प्रकरण में जिस कारण क्लेम निरस्त किया गया है एवं जिस कारण घटना घटित हुई है में परस्पर संबंध होना आवश्यक है। केवल तकनीकी कारण से क्लेम को निरस्त नहीं किया जा सकता। भोपाल। मध्य प्रदेश राज्य उपभोक्ता आयोग ने बीमा कंपनी के खिलाफ वाहन मालिक के पक्ष में फैसला सुनाया है। दस साल की लंबी लड़ाई के बाद चोरी गए चार पहिया वाहन मालिक को ब्याज सहित क्लेम की पूरी राशि देने का उपभोक्ता आयोग ने आदेश दिया है। वाहन मालिक की तरफ से पैरवी करने वाले वरिष्ठ अधिवक्ता ललित कुमार गुप्ता ने बताया कि फरियादी देवेंद्र सक्सेना ने एक बोलेरो जीप वर्ष 2009 में खरीदी थी। जिसका बीमा इफको टोक्यो कंपनी से कराया था। उपरोक्त वाहन 30-08-2010 की रात चोरी हो गया। जिसकी प्रथम सूचना रिपोर्ट पुलिस थाने में दर्ज कराई गई और बीमा कंपनी से आवेदक द्वारा क्लेम की राशि की मांग की गई। इसे भी पढ़ें: शिवराज सरकार सिर्फ विज्ञापनों में चला रही माफिया के खिलाफ अभियान- जीतू पटवारी लेकिन बीमा कंपनी द्वारा क्लेम इस आधार पर निरस्त कर दिया गया कि घटना के समय वाहन का व्यवसायिक उपयोग किया जा रहा था। आवेदक द्वारा बीमा कंपनी के खिलाफ प्रकरण जिला उपभोक्ता आयोग दतिया में प्रस्तुत किया गया। जिला आयोग दतिया द्वार आवेदक के परिवाद को स्वीकार कर क्लेम राशि का भुगतान किए जाने का आदेश किया था। जिसके विरुद्ध बीमा कंपनी द्वारा अपील राज्य आयोग भोपाल में की गई। राज्य आयोग भोपाल द्वारा अपने आदेश में यह व्यवस्था दी गई कि घटना एवं क्लेम निरस्तीकरण दोनों में परस्पर संबंध होना चाहिए। चोरी के प्रकरण में वाहन के व्यवसायिक उपयोग का आधार स्वीकार योग्य नहीं है। इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में बढ़ी गिद्धों की संख्या, पर्यावरण संरक्षक गिद्धों की हुई थी गणना आयोग द्वारा बीमा कंपनी की अपील निरस्त कर जिला फोरम का आदेश यथावत रखा गया। वरिष्ठ अधिवक्ता ललित कुमार गुप्ता ने बताया कि बीमित वाहन के चोरी के प्रकरण में जिस कारण क्लेम निरस्त किया गया है एवं जिस कारण घटना घटित हुई है में परस्पर संबंध होना आवश्यक है। केवल तकनीकी कारण से क्लेम को निरस्त नहीं किया जा सकता।